चीन में कैसे फैला खतरनाक कोरोना वायरस जिसका खतरा भारत, अमेरिका और सऊदी अरब तक पहुँच गया है।


कोरोना, इस नाम को काफी लोगों ने एक बीयर के ब्रैंड, सॉफ्टवेयर या फिर सूरज के प्लाजमा के तौर पर सुना होगा लेकिन अभी यह एक वायरस को तौर पर चर्चा में है, जोकि चीन से होकर दुनिया के कई देशों में तेजी से अपनी पकड़ बनाता जा रहा है।




 सभी देशों की सरकार अलर्ट पर पर है, लोगों की जांच की जा रही है, लेकिन दुःख की बात यह है कि अभी तक केवल इस वायरस की बस पहचान तक ही की जा चुकी है लेकिन इसका अभी तक कोई इलाज नही खोजा जा चुका है। 
कोरोना के इंसानों में पहुंचने को लेकर अभी तक कोई पुख्ता कुछ नहीं कहा जा सकता है लेकिन इसे लेकर अलग-अलग दावे किए जा रहे है, एक दावे के अनुसार 2019 के दिसंबर माह में चीन के वुहान शहर के एक मीट मार्केट से यह कोरोना वायरस पैदा हुआ है। यहाँ पर बेचे गए जंगली जानवरों के शरीर में यह वायरस था जो कि उनसे इंसानों के शरीर में पहुँच गया। एक रिसर्च में यह पाया गया है कि यह वायरस साँप के जरीये इंसानों में फैला है। चीन के वैज्ञानिको की अभी हाल की एक खोज में यह पाया गया है कि यह वायरस चमगादड़ से साँपों में फैला फिर साँपों से इंसानों में फैला। चमगादड़ का सूप चीन के वुहान शहर में एक पंसदीदा पेय पदार्थ है तो कुछ वैज्ञानिकों ने माना है कि यह वायरस उस सूप से इंसानों के अंदर फैला है। कोरोना वायरस एक ऐसा वायरस है जो शरीर के अंदर जाकर कई तरह की बिमारियों को उत्पन्न करता है और उनको तेजी से बढाता है।
चीन के वुहान शहर से उत्पन्न हुआ यह वायरस अब चीन के पड़ोसी देशों के लिए भी खतरनाक साबित होता नजर आ रहा है। 24 जनवरी तक चीन में इस वायरस से मरने वालों की संख्या 25 हो चुकी है और करीब 830 लोग इससे पीडित बताये जा रहे है और यह तेजी से बढ़ता जा रहा है। भारत भी इस वायरस को लेकर अलर्ट पर है चीन से आने वाले सभी लोगों की जाँच की जा रही है। 



Comments